सर्वजनिक रूप से किया - Friendship Quotes
सर्वजनिक रूप से किया

सर्वजनिक रूप से किया गया मजाक धीरे-धीरे तुम्हारे परम मित्र को तुम्हारे परम शत्रु में परवर्तित कर देता है Sarvjanik rup se kiya gya mazaak Dhire dire Tumhare parm mitr ko Tumhare parm shatru mai parvartit kar deta hai


दोस्त   Friendship Quotes   285   Download

Loading more posts