जाहिर नहीं करता पर - Alone Quotes
जाहिर नहीं करता पर

जाहिर नहीं करता पर मैं रोज रोता हूँ, शहर का दरिया मेरे घर से निकलता है। Jaahir Nahi Karta Par Main Roj Rota Hoon, Shahar Ka Dariya Mere Ghar Se Nikalta Hai.


Aansoo Two Line   Alone Quotes   487   Download

Loading more posts